Career

आईपीएस (IPS) ऑफिसर कैसे बने, आईपीएस अधिकारी की तैयारी कैसे करें जानिए

आईपीएस फूल फॉर्म, आईपीएस सैलरी, आईपीएस कैसे बने, सैलरी, योग्यता आदि की पूरी जानकारी

आईपीएस (IPS) ऑफिसर कैसे बने, आईपीएस अधिकारी की तैयारी कैसे करें जानिए: आईपीएस (IPS) ऑफिसर एक अधिकारी रैंक की पोस्ट होती है, जो की देश की आंतरिक सुरक्षा के लिए होता है। IPS बनने वाले सभी अभ्यर्थियों को सिविल सर्विस परीक्षा पास करना होता है। इस पद के लिए हर वर्ष आवेदन जारी किये जाते है, इस पद के लिए बहुत से अभ्यर्थी आवेदन करते है। वहीं, प्रत्येक वर्ष UPSC (Union Public service Commission) इस परीक्षा का आयोजन करती है। अगर आप भी IPS Officer बनना चाहते हैं तो आपको इस पोस्ट मे पूरी जानकारी विस्तार से मिलेगी।

आईपीएस (IPS Officer) ऑफिसर क्या होता है

IPS का पद सिविल सेवाओं में सबसे सम्मानित पदों में से एक आईपीएस (IPS) का पद है, यह आईएएस (IAS) के बाद आता है। भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस) भारत की मुख्य तीन नागरिक सेवाओं में से एक है, इस पद की स्थापना वर्ष 1948 में की गयी थ। आईपीएस कैडर गृह मंत्रालय के अधीन होता है, इसका पूरा नियंत्रण गृह मंत्रालय द्वारा किया जाता है। इसकी परीक्षा UPSC (यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन) के द्वारा हर वर्ष आयोजित की जाती है, और इस परीक्षा मे पास होने वाले अभ्यर्थियों को ट्रेनिंग के उपरांत आईपीएस के पद पर चयनित किया जाता है। यहां पर आप जानेंगे की आईपीएस बनने के लिए योग्यता, तैयारी कैसे करें फॉर्म कब भरें जाते है। यह भी पढ़ें – क्रिकेट में करियर कैसे बनाये जानिए

आईपीएस किसे कहते है (What is IPS)

आईपीएस ऑफिसर (IPS) का फुल फॉर्म इडियन पुलिस सर्विस (INDIA POLICE SERVICE) होता है, जिसकी भर्ती संघ लोक सेवा आयोग के माध्यम से की जाती है, एक आईपीएस अधिकारी मुख्यतः कानून और कुख्यात अपराधियों को अपराध करने से रोकता है और उन्हें गिरफ्तार करता है। यह कानून व्यवस्था को बनाए रखने के लिए प्रतिबद्ध होता है, अपराध को रोकने के साथ-साथ नशीली दवाओं की तस्करी, मानव तस्करी, सीमा सुरक्षा को बनाए रखने, आतंकवाद को रोकने, रेलवे पुलिस और साइबर अपराधों का निरीक्षण व नजर रखने के लिए भी एक आईपीएस  जिम्मेदार होता है। आईपीएस अधिकारियों को भी सीबीआई (CBI), रॉ (RAW), और आईबी (IB) अर्धसैनिक बलों जैसे असम राइफल्स, बीएसएफ, सीआरपीएफ, आईटीबीपी जैसी खुफिया एजेंसियों का नेतृत्व प्रदान किया जाता है। यह भी पढ़ें – ज्योग्राफिकल इन्फॉर्मेशन सिस्टम में कैरियर कैसे बनाएं

IPS Full Form आईपीएस का फुल फॉर्म

IPS Full Form In Hindi आईपीएस की फूल फॉर्म क्या है यह पद एक सम्मानित पद है जो की आईएएस के बाद आता है अगर आपको इसकी फूल फॉर्म नहीं पता तो आपको बता दे की IPS की फूल फॉर्म या पूरा नाम इडियन पुलिस सर्विस (INDIA POLICE SERVICE) होता है

आईपीएस कैसे बने जानिए पूरी जानकारी

आईपीएस (IPS) कैसे बने तो आपको बता दे की एक अच्छा और सच्चा आईपीएस (IPS)  बनने के लिए आपको क्या करना होगा आईपीएस (IPS) की तैयार कैसे करें, इसके लिए योग्यता क्या है। सैलरी कितनी मिलती है, आदि की पूरी जानकारी आपको नीचे स्टेप बाय स्टेप बताई गई है। यह भी पढ़ें – बीसीए कोर्ष (BCA) करके बनाए करियर

शैक्षिक योग्‍यता (Eligibility)

आईपीएस पद के लिए शैक्षिक योग्यता स्नातक है, स्नातक के अंतिम वर्ष के छात्र भी इस परीक्षा में सम्मिलित हो सकते है।

आयु (Age Limit)

आईपीएस बनने के लिए आवेदन करने वाले अभ्यर्थी की आयु 21 से 32 वर्ष के मध्य में होनी चाहिए। आरक्षित वर्ग के अभ्यर्थियों को सरकारी नियमानुसार छूट भी दी जाती है।

शारीरिक योग्यता (Physical Eligibility)

लम्बाई (Height)

पुरुष अभ्यर्थियों के लिए लंबाई 165 सेंटीमीटर होनी चाहिए, आरक्षित वर्ग के अभ्यर्थियों के लिए 160 सेंटीमीटर है तथा महिला अभ्यर्थियों के लिए लंबाई 150 सेंटीमीटर होनी चाहिए, आरक्षित वर्ग की महिला अभ्यर्थियों के लिए 145 सेंटीमीटर निर्धारित की गई है।

सीना

पुरुष अभ्यर्थियों के लिए न्यूनतम 84 सेंटीमीटर तथा महिला अभ्यर्थियों के लिए न्यूनतम 79 सेंटीमीटर होना चाहिए।

दृष्टि

आईपीएस पद के लिए आई साइट 6/6 या 6/9 होना चाहिए, कमजोर आंखों के लिए विज़न 6/12 या 6/9 होना आवश्यक है।

परीक्षा का आयोजन

आईपीएस परीक्षा का आयोजन संघ लोक सेवा आयोग के माध्यम से किया जाता है। यह परीक्षा हर वर्ष आयोजित की जाती है।

आईपीएस परीक्षा के लिए तैयारी कैसे करे?

अगर आप आईपीएस बनना चाहते है तो आपको सिविल सर्विसेज के लिए मेहनत के साथ अध्ययन करना होगा। सिविल सर्विसेज के माध्यम से उत्कृष्ट अभियार्थियो को छांटकर ही देश के उच्च प्रशासनिक पदों पर नियुक्तिया दी जाती है। इसके लिए आपको इस परीक्षा मे अपना शानदार प्रदर्शन करना होगा। एक आईएएस अधिकारी बनेंगे या आईपीएस, इसका चुनाव आपकी मेरिट लिस्ट पर निर्भर करेगा। यदि आप यूपीएससी परीक्षा के लिए आवेदन करते है तो आपको निम्न चरण द्वारा गुजरना होगा। यह भी पढ़ें – पीएचडी (PhD) क्या है? इसे कैसे करें

प्रारम्भिक परीक्षा (Premilary Exam)

इस परीक्षा में आपको General Studies व CSAT के दोनों पेपर में क्वालीफाई करना होता है। और कम से कम 5 लाख अभियार्थी इस चरण में प्रतिभाग करते है और प्रीलिम पास करने के बाद मैन्स या मुख्य परीक्षा के लिए शोर्टलिस्ट होते है। यह परीक्षा Objective Type होती है जिसे वस्तुनिष्ठ प्रश्न पत्र भी कहते है। इस चरण के अंक मेरिट लिस्ट में नहीं गिने जाते है। यह भी पढ़ें – फूड टेक्नोलॉजी में कॅरियर कैसे बनाये

मुख्य परीक्षा (Mains Exam)

इस परीक्षा में आपसे यूपीएससी के सामान्य अध्ययन के सभी प्रश्न पत्र पूछे जाते है। यह परीक्षा Descriptive फॉर्म में होती है और सबसे अधिक गहन विषय की समझ इसी पेपर के आधार पर निर्धारित होती है। इन्ही पेपर के आधार पर मेरिट लिस्ट बनती है जिसमे इंटरव्यू के भी नम्बर जोड़े जाते है। यह परीक्षा 5 दिन तक चलती है जिसमे GS Paper, निबंध व अनिवार्य भाषा आधारित प्रश्न पत्र होते है। यह भी पढ़ें – सरकारी नौकरी कैसे मिलेगी जानिए

आईपीएस इंटरव्यू (IPS Interview)

आईपीएस बनने का यह अंतिम चरण है और निर्णायक भी। अगर परीक्षा के मैन्स में आपने अच्छे अंक प्राप्त किये है लेकिन इंटरव्यू में अच्छे अंक नहीं आ पाए तो आपको कम रैंक से संतोष करना होगा। आयोग पैनल करीबन 45 मिनट तक आपका इंटरव्यू लेता है जिसमे आपकी पर्सनालिटी और विवेक को चेक किया जाता है। आपसे तार्किक प्रश्न पूछे जाते है और उस पर आपकी प्रतिक्रिया व विचार के आधार पर आपको अंक प्रदान किए जाते है। यह भी पढ़ें – 12th के बाद कैरियर कैसे बनाये जानिए

मेरिट लिस्ट का निर्धारण (Merit List)

ऊपर के सभी चरण पूरे होने के बाद आयोग मुख्य परीक्षा व इंटरव्यू के आधार पर मेरिट लिस्ट जारी करता है। सबसे अव्वल अंक वालो को आईएएस, आईपीएस, आईएफएस, आईआरएस जैसे रैंक से नवाज़ा जाता है।

आईपीएस की ट्रेनिंग (IPS Training)

मेरिट लिस्ट के बाद, सभी क्वालिफाइड अभियार्थियो को LBSNAA ट्रेनिंग अकादमी में भेजा जाता है। आईपीएस ऑफिसर को भी लबसना में 6 माह की ट्रेनिंग प्रदान की जाती है व उसके बाद की ट्रेनिंग हैदराबाद में सरदार वल्लभभाई पटेल पुलिस अकादमी होती है। वहां पर उनसे भारतीय दंड संहिता, स्‍पेशल लॉ और क्रिमिनोलॉजी की ट्रेनिंग कराई जाती है। यह भी पढ़ें – सहायक अध्यापक कैसे बने जानिए

आईपीएस ऑफिसर (IPS Officer) की सैलरी और सुविधाएं

आईपीएस अधिकारी को उसके पद व प्रतिष्ठा के आधार पर वेतन के साथ-साथ अन्य प्रकार के भत्ते भी प्रदान किए जाते है। एक नवनियुक्त आईपीएस अधिकारी को लगभग 56,100 रूपये का वेतन दिया जाता है। वरिष्ठता के साथ सैलरी व भत्ते भी बढ़ते रहते है। यह भी पढ़ें – क्रिकेट में करियर कैसे बनाये जानिए

Rank 7th Pay Commission Pay Scale
Director General of Police/ Director of IB or CBI 2,25,000.00 INR
Director General of Police 2,05,400.00 INR
Inspector General of Police 1,44,200.00 INR
Deputy Inspector General of Police 1,31,100.00 INR
Senior Superintendent of Police 78,800.00 INR
Additional Superintendent of Police 67,700.00 INR
Deputy Superintendent of Police 56,100.00 INR

IPS पेपर से जुड़ी जानकारी

पेपर A (क्वालिफाइंग)

इसमें कैंडिडेट्स को संविधान की आठवीं अनुसूची में शामिल की गईं किसी भी एक भारतीय भाषा का चयन करना होगा, और यह 300 अंक का होगा।

पेपर B (क्वालिफाइंग)

इसमें अंग्रेजी विषय होगा और यह 300 अंक का होगा।

सामान्य अध्ययन

पेपर- I : निबंध लेखन – यह 250 अंक का होगा।

पेपर II : जनरल स्टडीज़-I – इसके अंतर्गत भारतीय विरासत और संस्‍कृति, दुनिया और समाज का इतिहास, भूगोल विषय होंगे, यह 250 अंक का होगा।

पेपर III : जनरल स्टडीज़-II – इसके अंतर्गत गवर्नेंस, संविधान, राजतंत्र, सामाजिक न्याय और अंतरराष्ट्रीय संबंध विषय होंगे – यह 250 अंक का होगा।

पेपर IV : जनरल स्टडीज़-III – टेक्नोलॉजी, इकनॉमिक डेवलपमेंट, बायो-डायवर्सिटी, पर्यावरण, सुरक्षा और आपदा प्रबंधन आदि विषय होंगे – यह 250 अंक का होगा।

पेपर V : जनरल स्टडीज-IV इसके अंतर्गत आने वाले विषयों में – आचार नीति, अखंडता, एप्टीट्यूड होंगे – यह 250 अंक का होगा।

पेपर VI : ऑप्शनल सब्जेक्ट: पेपर-I – यह 250 अंक का होगा।

पेपर VII : ऑप्शनल सब्जेक्ट: पेपर-II – यह 250 अंक का होगा।

कुल योग (Total Marks)

इस पद के लिए लिखित परीक्षा का कुल योग 1750 अंक का होगा।

इंटरव्यू 275 अंक का निर्धारित किया गया।

कुल अंकों का योग 2025 निर्धारित किया गया।

वैकल्पिक विषय

अभ्यर्थी एग्रीकल्‍चर, एनिमल हस्‍बेंड्री और वेटनरी साइंस, मानव विज्ञान, बॉटनी, केमिस्‍ट्री, सिविल इंजीनियरिंग, कॉमर्स और एकाउंटेंसी, इकनॉमिक्‍स, इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग, भूगोल, भू-विज्ञान, इतिहास, लॉ, मैनेजमेंट, मकेनिकल इंजीनियरिंग, मेडिकल साइंस, फिलॉसफी, फिजिक्‍स, पॉलिटिकल साइंस और अंतरराष्‍ट्रीय संबंध, मनोविज्ञान, पब्लिक एडमिनिस्‍ट्रेशन, समाजशास्‍त्र, स्‍टेटस्टिक्‍स, जू़लॉजी और भाषा (असमिया, बंगाली, बोडो, डोगरी, गुजराती, हिंदी, कन्‍नड़, कश्‍मीरी, कोंकणी, मैथिली, मलयालम, मणिपुरी, संथाली, सिंधी, तमिल, तेलुगु, उर्दु और अंग्रेजी) में से किसी एक भाषा का चुनाव वैकल्पिक विषय के रूप में कर सकते है।

ताजा अपडेट और करियर की जानकारी के लिए हमसे जुड़े

ताजा अपडेट और करियर की जानकारी के लिए टेलीग्राम चेनल से जुड़े Click Here
Search Duniya Home Click Here

यह भी पढ़ें

सरकारी भर्तियों की अपडेट यहां से देखे

एमबीए (MBA) कैसे करे, मास्टर ऑफ़ बिज़नेस एडमिनिस्ट्रेशन क्या है जानिए

परीक्षा में टॉप कैसे करें, परीक्षा मे अच्छे अंक लाने के लिए ऐसे करें पढ़ाई

सहायक अध्यापक कैसे बने, Assistant Teacher Kaise Bane जाने योग्यता, सैलरी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button