Career

क्रिकेट में करियर कैसे बनाये Cricket Me Career Kaise Banaye

क्रिकेट में अपना करियर कैसे बनाये, क्रिकेटर बनने के लिए कितना पैसा लगता है, क्रिकेटर बनने के लिए उम्र कितनी होनी चाहिए, क्रिकेटर बनने मे कितना पैसा खर्च होता है जानिए

क्रिकेट में करियर कैसे बनाये Cricket Me Career Kaise Banaye: सर्च दुनिया पोर्टल पर आपका स्वागत है आज हम आपको क्रिकेट मे करियर कैसे बना सकते है इसकी पूरी जानकारी प्रदान करने वाले है। क्रिकेट एक आज के समय का बहुत ही लोकप्रिय खेल है जिसे सभी उम्र के लोग बहुत पसंद करते है। और वर्तमान पीढ़ी के बच्चे और युवा वर्ग क्रिकेट के क्षेत्र मे अपना करियर भी बनाना चाहते है अगर आप भी यह जानना चाहते है की क्रिकेट में करियर कैसे बनाये तो इस पोस्ट को आखिर तक जरूर पढ़ें।

यह भी पढ़ें – सरकारी नौकरी कैसे मिलेगी जानिए

क्रिकेट में करियर कैसे बनाये Cricket Me Career Kaise Banaye

आज के समय मे क्रिकेट को बहुत अधिक पसंद किया जाता है विराट कोहली, महेंद्र सिहं धोनी, रोहित शर्मा, सचिन तेंदुलकर, वीरेंद्र सहवाग या फिर महिला क्रिकेटर मिताली राज, अंजुम चोपड़ा जैसी ही अन्य भारतीय क्रिकेट टीम के सदस्यों को देखकर हर युवा उनके तरह ही अपना भी नाम, पैसा और सम्मान पाने के सपने देखते है। वर्तमान मे क्रिकेट को रोचकता के साथ खेलने के अलावा करियर बनाने के भी बहुत से ऑप्शन है। बहुत से लोग क्रिकेट खेलने के साथ इस क्षेत्र मे करियर भी बनाना चाहते है लेकिन सही दिशा निर्देश और जानकारी के अभाव मे अपना करियर नहीं बना पाते है। इस पोस्ट मे आप पूरी जानकारी जान पाएंगे जैसे की क्रिकेटर बनने के लिए आयु कितनी होनी चाहिए, किन दिशा निर्देशों का पालन करना होगा। लेकिन हम आपको एक बात बता दे की किसी भी मंजिल को पाने के लिए कठिन मेहनत करनी पड़ती है।

यह भी पढ़ें – 12th के बाद कैरियर कैसे बनाये जानिए

क्रिकेटर कैसे बने Cricketer Kaise Bane

  • आपको बता दे की एक अच्छा क्रिकेटर बननें के लिए आपको कठिन परिश्रम के साथ-साथ कुछ दिशा निर्देशों को भी ध्यान मे रखना होगा जिनकी जानकारी आप नीचे देख सकते है।
  • आप जिस बच्चे को क्रिकेटर बनना चाहता हैं उसे कम उम्र से ही किसी अच्छे कोच की निगरानी में क्रिकेट सीखना होगा।
  • अगर आपकी आर्थिक स्थिति कमजोर है तो आपको किसी इस्पोंसेर को ढूँढना होगा जो आपके ट्रेनिंग के खर्च उठा सके, क्योंकि क्रिकेट सिखने में काफी समय, पैसा आदि महंगे उपकरण खरीदने में बहुत से पैसो की आवश्यकता होती है।
  • अगर आप क्रिकेट को ही अपना प्रोफेशन बनाना चाहते हैं तो आपको अपनी पढ़ाई निरंतर जारी रखनी चाहियें। अगर आप पढ़ाई और खेल के मध्य तालमेल बैठा सकें तो ही इस क्षेत्र मे आगे बढ़ें।
  • आपको धीरज रखते हुये इस क्षेत्र मे आगे बढ़ना होगा।
  • शारीरिक श्रम बहुत अधिक करना होता हैं आपको यानि अपनी फिजिकल फिटनेस पर काफी ध्यान देना होगा।
  • खान-पान पर भी ध्यान दें ताकि आपका स्टेमिना ठीक रहें और आप अपना अच्छा प्रदर्शन दे सकें।
  • सबसे महत्वपूर्ण बात यह है की आप मेहनती होने चाहिए, आपमें लगन होनी चाहिए और क्रिकेट के प्रति जूनून होना चाहियें तभी आप सफल हो सकते है।

क्रिकेटर बननें के लिए उम्र सीमा

8 वर्ष एक अच्छा क्रिकेटर बननें के लिए सही आयु है, यह निर्धार्ण करने के लिए की आपको या आपके बच्चे को क्रिकेटर बनना हैं और क्रिकेट मे उनकी रुचि है, तो आपको उन्हें 8 वर्ष की आयु से क्रिकेट अकादमी भेजना चाहियें, देश में एसी बहुत सी एकेडमी हैं, जो 8 वर्ष के बच्चों को प्रवेश देती हैं, परन्तु विभिन्न एकेडमीयों 17-18 वर्ष की आयु के बच्चों को भी प्रवेश प्रदान किया जाता है।

यह भी पढ़ें – फूड टेक्नोलॉजी में कॅरियर कैसे बनाये

क्रिकेट अकैडमी का चयन

आपको बता दे की किसी भी एकेडमी में प्रवेश लेने से पहले उस एकेडमी से सम्बंधित कोच, रिजल्ट्स तथा डीडीसीए से एफिलिएटेड के बारें में जरूर जानना चाहिए, एक बार बच्चे नें अच्छी एकेडमी कोच से क्रिकेट के गुण सीखना आरंभ करनें के पश्चात, वह कामयाबी के किस-किस स्टेप से गुजरेगा और कितनी दूर तक जायेगा?, यह सब बच्चे की मेहनत और लगन पर निर्भर करता है।

निरंतर अभ्यास करना है जरूरी

किसी भी क्षेत्र में सफलता प्राप्त करनें के लिए एक लक्ष्य का निर्धारण करना जरूरी है, इसी प्रकार एक अच्छा क्रिकेटर बननें के लिए प्रतिदिन अभ्यास करना भी बहुत जरूरी है, अगर आप बैट्समेन है, तो आपको स्टेप बाय स्टेप शॉट का अभ्यास करना चाहिए। जब तक आप को एक शॉट परफेक्ट रूप से ना आ जाये, तब तक डबल शॉट सीखने का प्रयास नहीं करना चाहिए। प्रतिदिन फिटनेस पर लगभग दो घंटे का समय दिया जाना चाहिये। यदि आप एक अच्छे बॉलर हो तो बोलिंग पर लगभग तीन घंटे का अभ्यास करना जरूरी है।

घरेलू टूर्नामेंट्स में सम्मिलित हो

अकैडमी के बाद आगे जानें के लिए बच्चे के पास बहुत से ऑप्शन होते है, उन्हें अवसर प्राप्त होनें पर डीडीसीए और बीसीसीआई के घरेलू क्रिकेट टूर्नामेंट्स में सम्मिलित होना चाहियें, इसके लिए विभिन्न स्तर पर चयन होते रहते हैं, ऐसा पहला अवसर दिल्ली की अंडर-15 टीम के लिए चुना जाना होगा, इसके लिए दिल्ली में डीडीसीए से एफिलिएटेड क्लब या अकैडमी के मध्य टूर्नामेंट्स करवाए जाते हैं, उनमें सिलेक्शन पैनल द्वारा एक मानक निर्धारित कर दिया जाता है, जिसमें खिलाड़ी द्वारा निर्धारित रन अथवा विकेट लेनें पर ट्रायल्स के लिए बुलाया जाता है।

बेहतर प्रदर्शन दिखने के बाद खिलाडी को स्टेट की अंडर-15 टीम में चुना जाएगा, इस स्तर पर सफलता प्राप्त करनें के पर उन्हें स्कूल लेवल के नैशनल टूर्नामेंट और दूसरे नैशनल टूर्नामेंट खेलनें का अवसर मिलता है, यह टूर्नामेंट्स नैशनल टीम तक पहुंचनें के लिए एक माध्यम होते हैं, इन्हीं टूर्नामेंट्स में परफॉर्म करते-करते खिलाड़ी का सिलेक्शन नैशनल लेवल की टीम्स जैसे रणजी, इंडिया अंडर-19, इंडिया ए और सीनियर टीम के लिए होता है।

क्रिकेट में करियर के विकल्प

क्रिकेट में करियर बनानें के लिए बहुत से विकल्प है जिनकी जानकारी आपको नीचे दी गई है।

फास्ट बॉलर के रूप में

क्रिकेट में फ़ास्ट बॉलर की बहुत अधिक मांग होती है, फ़ास्ट बॉलर का करियर अधिक समय तक नहीं होता है, बड़े-बड़े फ़ास्ट बॉलर सात या आठ वर्ष में गायब हो जातें है, फ़ास्ट बॉलर लगातार तेज गेंदबाज़ी नहीं कर सकता, शुरुआत में रफ़्तार अच्छी होती है, लेकिन बाद में गति कम हो जाती है, मीडियम पेस बॉलर अगर आप को बनना है तो साथ में आप को बल्लेबाज़ी भी आनी चाहिए, क्योंकि सिर्फ मीडियम पेस बॉलर की वैल्यू कम होती है।

विकेटकीपर एवं बल्लेबाज़ के रूप में

विकेटकीपर और बल्लेबाज़ बन कर आप अपने क्रिकेटर का करियर आरंभ कर सकतें है, लेकिन इसमें एकाग्रता की बहुत अधिक आवश्यकता होती है।

बैट्समैन के रूप में

अगर आप अपना करियर बल्लेबाज़ के रूप मे बनाना चाहतें है, तो यहाँ पर आपके पास दो विकल्प हार्ड हीटर और डिफेंसिव उपलब्ध होते है, हार्डहिटर बल्लेबाज़ की आईपीएल जैसे टूर्नामेंट में बहुत अधिक मांग होती है, लेकिन इनमें प्रतिस्पर्धा भी अधिक होती है, और इनका करियर शार्ट होता है, डिफेंसिव बैट्समेन की टेस्ट मैच में काफी मांग होती है, और इनका करियर लंबा चलता है।

स्पिनर के रूप में

क्रिकेट में स्पिनर की मांग भी बहुत अधिक होती है, अगर आप राइट हैंडेड है, तो आपको ओफ् स्पिनर बनना चाहिए, और लेफ्ट हैंडेड हो तो लेग स्पिनर के साथ में बल्ले बाज़ी की भी प्रैक्टिस प्रतिदिन करनी चाहिए, क्योंकि ऑल राउंडर बननें पर आपके सिलेक्शन का चांस बढ़ जाता है, और अच्छे स्पिनर को आईपीएल टेस्ट एवं वन डे मैच में सिलेक्शन का अवसर मिलता है।

इस पोस्ट मे हमने आपको क्रिकेट मे करियर कैसे बनाएँ इसकी पूरी जानकारी प्रदान की है अगर आपको करियर से जुड़ी जानकारी चाहिए तो आप सर्च दुनिया (SearchDuniya) के साथ जुड़ सकते है।

ताजा अपडेट और करियर की जानकारी के लिए हमसे जुड़े

ताजा अपडेट और करियर की जानकारी के लिए टेलीग्राम चेनल से जुड़े Click Here
Search Duniya Home Click Here

यह भी पढ़ें

ताजा खबरों की जानकारी यहां से देखे

एमबीए (MBA) कैसे करे, मास्टर ऑफ़ बिज़नेस एडमिनिस्ट्रेशन क्या है जानिए

परीक्षा में टॉप कैसे करें, परीक्षा मे अच्छे अंक लाने के लिए ऐसे करें पढ़ाई

सहायक अध्यापक कैसे बने, Assistant Teacher Kaise Bane जाने योग्यता, सैलरी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button