Career

Bank PO Ki Taiyari Kaise Kare, बैंक पीओ कैसे बने जानिए

बैंक में PO कैसे बने, पीओ बननें हेतु शैक्षिक योग्यता

Bank PO Ki Taiyari Kaise Kare, बैंक पीओ कैसे बने जानिए

Bank PO Ki Taiyari Kaise Kare, बैंक पीओ कैसे बने, बैंक में PO बनने के लिए योग्यता, सैलरी, आयु सीमा तैयारी कैसे करें आदि की सम्पूर्ण जानकारी के लिए आपको इस आर्टिकल में विस्तार से बताई जाएगी.

करियर बनाने की जानकारी टेलीग्राम चैनल से प्राप्त करें

Click Here

बैंक पीओ कैसे बने

दोस्तों जैसे की हम सभी जानते है की Banking का क्षेत्र आज के समय में तेजी से बढ़ता जा रहा है और इसके साथ इस इस क्षेत्र में काम करने वाले कर्मचारियों की भी आवश्यकता बढती जा रही है. बैंक में खाली पदों को भरने के लिए हर वर्ष भर्ती निकली जाती है. जिनमे से एक पद बैंक PO का भी शामिल होता है. इसलिए हम आपको आज के इस आर्टिकल में बैंक पीओ कैसे बने? इससे जुडी सम्पूर्ण जानकारी प्रदान करने वाले है.

बैंक में PO कैसे बने

भारत में बैंक में नौकरी करना बहुत से लोगो की पसंद है आज के समय में देश में बहुत से छात्र सार्वजनिक और राष्ट्रीकृत बैंकों में प्रोबेशनरी ऑफिसर (पीओ) के रूप में करियर बनाना चाहते है. लेकिन हम आपको बता दे की बैंक में किसी भी पद पर नौकरी प्राप्त करने के ल्किये बहुत अधिक मेहनत करने की आवश्यकता होती है. यदि आप बैंक में पीओ अर्थात परिवीक्षाधीन अधिकारी बनना चाहते है, तो इस आर्टिकल में सम्पूर्ण जानकारी बताई गई है आप इसे आखिर तक जरुर पढ़ें.

बैंक में पीओ बननें हेतु शैक्षिक योग्यता

किसी भी बैंक में पीओ बननें के लिए अभ्यर्थी को स्नातक पास होना आवश्यक है.

पीओ के लिए आयु मापदंड

राष्टीयकृत और सार्वजनिक बैंकों में प्रोबेशनरी ऑफिसर पद के लिए आवेदक की न्यूनतम आयु 21 वर्ष व अधिकतम आयु 30 वर्ष के मध्य चाहिए, इसके अलावा आरक्षित वर्ग के अभ्यर्थियों को सरकारी नियमानुसार छूट प्रदान की जाती है.

प्रोबेशनरी ऑफिसर बननें हेतु परीक्षाएं

प्रोबेशनरी ऑफिसर बननें के लिए अभ्यर्थी आईबीपीएस की सहायता से आवेदन कर सकते है, आईबीपीएस के अंतर्गत कॉमन रिटेन टेस्ट (CWE) होता है, जिसे आईबीपीएस द्वारा तीन चरणों में आयोजित किया जाता है जिसकी प्रक्रिया आप यहां देख सकते है.

  1. प्रारंभिक परीक्षा (Preliminary Exam)
  2. मुख्य परीक्षा (Main Exam)
  3. साक्षात्कार (Interview)

1. प्रारंभिक परीक्षा

आवेदन करने के बाद अभ्यर्थियों को सबसे पहले इस चरण में शामिल होना होता है, इस परीक्षा में सामान्य ज्ञान और हिन्दी अंग्रेजी से संबंधित प्रश्न पूछे जाते हैं, पेपर का पूर्णांक 100 अंक होता है, इस प्रश्न पत्र के लिए एक घंटे का समय दिया जाता है.

प्रारंभिक परीक्षा पैटर्न

विषय प्रश्नों की संख्या अंक
रीजनिंग 35 35
मात्रात्मक योग्यता 35 35
अंग्रेजी भाषा 30 30
कुल 100 100

2. मुख्य परीक्षा

मुख्य परीक्षा में कुल 200 अंक के 200 प्रश्न शामिल होते है, इस परीक्षा में सभी विषयो के लिए समय निर्धारित होता है, और परीक्षा का कुल समय 140 मिनट का होता है, जिसमे रीजनिंग, मात्रात्मक योग्यता, अंग्रेजी, सामान्य ज्ञान और कंप्यूटर विषय हैं, सभी प्रश्न वस्तुनिष्ठ प्रकार के होते है.

ये भी देखें – कंप्यूटर एक्सपर्ट कैसे बने जानिए

मुख्य परीक्षा पैटर्न

विषय प्रश्नों की संख्या अंक समय
रीजनिंग और कंप्यूटर 45 60 60
सामान्य ज्ञान/ बैंकिंग ज्ञान 40 40 35
अंग्रेजी भाषा 35 40 40
डेटा विश्लेषण और व्याख्या 35 60 45
अंग्रेजी भाषा (पत्र लेखन और निबंध) 2 60 30

इस परीक्षा में निगेटिव मार्किंग भी होती है, इसलिए आपको प्रश्नों के उत्तर सावधानी पूर्वक देने है.

3. साक्षात्कार

दोनो परीक्षाओं मे सफल होने वाले अभ्यर्थियों को साक्षात्कार के लिए बुलाया जाता है, और अधिकारीयों द्वारा अभ्यर्थियों से कुछ आवश्यक प्रश्न पूछकर उनकी योग्यता को चेक किया जाता है, साक्षात्कार के आधार पर आवेदक को अंक दिए जाते है.

परीक्षा से सम्बंधित विषयो का सिलेबस

बैंक पीओ बनने के लिए आपको बहुत से विषयों का अध्ययन करना होता है जिसकी जानकारी आपको निचे बताई गई है.

पीओ रीजनिंग का सिलेबस

रीजनिंग का भाग सभी लॉजिकल रीजनिंग के प्रश्नों को कवर करता है, लॉजिकल रीजनिंग में मौखिक प्रश्न होते है, रीजनिंग में ब्लड रिलेशन / सिटींग अरंजेमेंट / कोडन-डिकोडिंग आदि से सम्बंधित प्रश्न पूछें जाते है.

पीओ अंग्रेजी का सिलेबस

अंग्रेजी विषय सभी प्रतियोगी और बैंकिंग परीक्षाओं के लिए सामान्य है, लेकिन इसमें अंग्रेजी के लिए दो मुख्य आधार है – व्याकरण और शब्दावली, इसके अतिरिक्त खाली स्थान भरना, वाक्यांश और मुहावरे, प्रत्यक्ष – अप्रत्यक्ष काल, एक शब्द प्रतिस्थापन, पैसेज, वाक्य पूर्णव्यवस्थित करना, त्रुटि सही करना आदि से सम्बंधित प्रश्न पूछें जाते है.

पीओ मात्रात्मक योग्यता का सिलेबस

यह इस परीक्षा का सबसे कठिन प्रश्न पत्र होता है, इस प्रश्न पत्र में आपको शॉर्टकट फोर्मुले और ट्रिक्स पता होनी चाहिए, इस पेपर का मुख्य भाग डेटा व्याख्या है, इसमें सारणीकरण, पाई चार्ट, रेखा चार्ट, लाइन ग्राफ और बार चार्ट के अतिरिक्त अन्य मुख्य टॉपिक्स जैसे वर्गमूल, घनमूल, पार्टनरशिप, प्रतिशत, अनुपात समानुपात, ऐज रेश्यो, प्रोपोर्शन, लाभ हानि, सरल ब्याज, कंपाउंड इंटरेस्ट, समय और दूरी , नंबर सिस्टम, प्रॉब्लम बेस्ड नंबर, डेसीमल फ्रैक्शन, मेंसुरेशन, डाटा टेबल्स, प्रोबेबिलिटी, पाई चार्ट, बार ग्राफ्स, लाइन ग्राफ्स, मिक्स ग्राफ्स, केस स्टेडी आदि से सम्बंधित प्रश्न पूछें जाते है.

पीओ सामान्य ज्ञान का सिलेबस

सामान्य ज्ञान के अंतर्गत, इस प्रश्न पत्र में लेटेस्ट करंट अफेयर्स की जानकारी , जैसे इंडियन इकोनॉमी, इंटरनेशनल इकोनॉमी, यू एन ओ, मार्केटिंग, भारतीय संविधान, अवार्ड्स और सम्मान, खेल, फाइनेंस, एग्रीकल्चर आदि से सम्बंधित प्रश्न पूछें जाते है.

पीओ कम्प्यूटर का सिलेबस

पीओ परीक्षा में कंप्यूटर का प्रश्न पत्र 20 अंक का होता है, इसमें बेसिक जनरल कंप्यूटर नॉलेज, सॉफ्टवेर – हार्डवेयर, डीबीएमएस, माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस, इनपुट और आउटपुट डिवाइस, नेटवर्किंग, इन्टरनेट की बेसिक जानकारी होनी चाहिए.

बैंक पीओ के कार्य

बैंक पीओ का कार्य बहुत प्रभावशाली होता है, और इसमें बैंक पीओ की भूमिका बैंक में सबसे महत्वपूर्ण होती है, इनके प्रमुख कार्य इस प्रकार है-

ये भी देखें – प्रोग्रामर कैसे बने

1. ऋण प्रदान करना

बैंक पीओ ग्राहकों को ऋण उपलब्ध करवाता है, ऋण प्रदान करनें के लिए आवश्यक दस्तावेजो की जांच करके उन्हें ऋण प्रदान करते है.

2. अन्य जानकारी रखना

बैंक पीओ को अन्य क्षेत्रो ऋण, मार्केटिंग, एकाउंटिंग, फाइनेंस आदि की जानकारी रखनी होती है.

3. ग्राहकों को सेवाए उपलब्ध करना

बैंक पीओ को ग्राहकों की सुविधाओं का भी ध्यान रखता है, जो उन्हें बैंकिंग सुविधाए उपलब्ध करता है, जैसे – एटीएम कार्ड, चेक बुक, पास बुक तथा ग्राहकों की समस्याओं, नकद लेन-देन के मामले, खाते को लेकर कोई समस्या आदि से सम्बंधित जानकारी देते है.

ये भी देखें – सफलता कैसे मिलेगी जानिए

प्रोबेशनरी ऑफिसर की सैलरी

प्रोबेशनरी ऑफिसर को प्रारंभिक वेतन के रूप में 23700 रुपये से 42020 रुपये ( सभी भत्ते मिलाकर ) प्राप्त होते है.

Bank PO Ki Taiyari Kaise Kare, बैंक पीओ की तैयारी कैसे करें

  • आप जिस बैंक में पीओ की जॉब प्राप्त करना चाहते है, उस जॉब से सम्बंधित जानकारी जैसे सिलेबस, परीक्षा, परीक्षा पैटर्न, परीक्षा समय आदि की पूरी जानकारी प्राप्त करें.
  • कंप्यूटर स्टडी पर फोकस करे, क्योंकि वर्तमान समय में कंप्यूटर से सम्बंधित प्रश्न अधिक पूछें जाते है, तथा बैंक के लगभग सभी कार्य कंप्यूटर द्वारा ही किये जाते है.
  • सेल्फ स्टडी और सामान्य ज्ञान पर भी फोकस करें.
  • पुराने पेपरों को हल करें और उत्तर नहीं मिलने पर इंटरनेट पर सर्च करें.
  • अपना आत्म विश्वास बनाये रखे तथा परीक्षा के समय घबराए नहीं और हमेशा एक्टिव रहे.
  • तर्कशक्ति बढ़ाने का प्रयास करे, क्योंकि परीक्षा में आपको कन्फ्यूज्ड करनें वाले प्रश्नों को सीमित समय में हल करना है.
  • बैंकिंग क्षेत्र में एकाउंटिंग-गणित के साथ-साथ इंग्लिश को भी महत्व देना चाहियें, तथा आपको गणित और इंग्लिश को परफेक्ट बनानें का प्रयास करना चाहिए.

निष्कर्ष: दोस्तों आज के इस आर्टिकल मे हमने आपको Bank PO Ki Taiyari Kaise Kare, बैंक पीओ कैसे बने जानिए (प्रोबेशनरी ऑफिसर) के बारें मे विस्तार से जानकारी प्रदान की है उम्मीद करते है की आपको हमारे इस आर्टिकल से कुछ मदद जरूर मिली होगी।

ये भी देखें – सरकारी भर्तियों व जॉब की ताजा अपडेट यहां से देखें

ताजा अपडेट और करियर की जानकारी के लिए हमसे जुड़े

ताजा अपडेट और करियर की जानकारी के लिए टेलीग्राम चेनल से जुड़े Click Here
Search Duniya Home Click Here

Bank Me PO Kaise Bane?

बैंक में PO कैसे बनने की सम्पूर्ण जानकारी आपको ऊपर बताई गई है.

बैंक पीओ का सिलेबस क्या है?

Bank PO के सिलेबस में आपको हिंदी, इंग्लिश, के साथ बहुत से विषय पढने होते है जिनकी पूरी जानकारी आपको ऊपर विस्तार से बताई गई है.

Bank PO की तैयारी करें करें?

बैंक पीओ की तैयारी करेने की सम्पूर्ण जानकारी आपको ऊपर बताई गई है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button